जायफल क्या है इसके फायदे और नुकसान क्या हैं?

 जायफल एक प्रकार का मसाला है जिसका इस्तेमाल अन्य  मसालों दालचीनी, हल्दीि, जीरा और तेज पत्ता  आदि के जैसे स्वादिष्ट को व्यंमजनों को बनाने के लिए किया जाता है। कई लोग जायफल और जावित्री को एक ही मानते हैं लेकिन हम आपको बता दें कि जायफल और जावित्री दोनों अलग-अलग होते हैं।


 जायफल और जावित्री दोनों एक ही पेड़ से निकलते हैं लेकिन जायफल बीच होता है और उसके ऊपर लगे छिलके को जावित्री कहा जाता है।
जायफल में कई प्रकार के तत्व मौजूद होते हैं जैसे फाइबर, मैगनीज, थायमिन, विटामिन-बी6, फोलेट, मैग्नीशियम, और कॉपर आदि जो शरीर को स्वस्थ और कई प्रकार की बीमारियों को ठीक करने में मदद करते हैं।


जायफल के फायदे -Benifits of Nutmeg in Hindi



जायफल का इस्तेमाल पिछले कई दसको से किया जा रहा है। जायफल का सेवन करने से कई स्वास्थवर्धक लाभ होते हैं। इसके अलवा जायफल का इस्तेमाल कई प्रकार की बीमारियों को ठीक करने में किया जाता है। तो चलिए जानते हैं कि जायफल का का इस्तेमाल करने से क्या-क्या फायदे मिलते हैं।


(1) अनिद्रा को दूर करने में जायफल के फायदे

 

अच्छी सेहत के लिए अच्छी नींद भी बहुत आवश्यक है। अच्छी नींद लेने से न सिर्फ शरीर के कार्य सुनयंत्रित होते हैं बल्कि शरीर की खर्च हुई ऊर्जा फिर इकट्ठा होकर शरीर को ऊर्जावान बना देती है।
 

अगर आपको रात मे नीद कम आती है और नींद पूरी नहीं होती तो आपको जायफल का उपयोग करना चाहिए। जायफल का का सेवन करने से आपको अच्छीर नींद आयेगी साथ ही मन शांत और तनाव को दूर करने में मदद मिलता हैं। यदि आप सोने से पहले प्रतिदिन एक चम्माच जायफल पाउडर को गर्म दूध के साथ मिलाकर पियेंगे तो आपको अच्छी नींद आयेगी। जायफल में मौजूद मैग्नीशियम और सेरोटोनिक अनिद्रा और बेचैनी को दूर करने में मदद करते हैं।
 

(2) जायफल के लाभ पाचनतंत्र के लिए

कई बार हम ऐसा भोजन कर लेते है जिसे पचाने  में पाचन तंत्र समस्याअ आती है। अगर हमारे द्वारा खाए गए भोजन ठीक से न पचे तो शरीर में पेट दर्द, गैस जैसी समस्याएं उत्पन्न होने लगती है। पाचनतंत्र हमारे शरीर का मुख्य भाग होता है इसलिए इसे स्वस्थ रखने के लिए हमारी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए।
 

जायफल का इस्तेमाल करने से हमारा पाचन तंत्र स्वस्थ रहता है। जायफल में मौजूद फाइबर पाचन प्रक्रिया को सुधारने में मदद करता है। अगर आपका पाचन क्रिया ख़राब है तो एक चुटकी जायफल पावडर को किसी सूप या पेय पदार्थ में मिलाकर पीने से आपका पाचन तंत्र मजबूत हो जाएगा।
 

(3) दांत दर्द से राहत पाने के लिए

 

दांत में दर्द होना एक आम समस्या है जिससे कई लोग पीड़ित रहते हैं। दांतों दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे दांतों को ठीक तरह से साफ न करना, ज्यादा मीठा खाना या अन्य कारण। दांत का दर्द किसी भी उम्र के लोगो को हो सकता है। कभी कभी असहनीय दर्द भी होता है जिससे चेहरे पर सूजन और सिर में दर्द होने लगता है।
दांत में दर्द से छुटकारा पाने के लिए जायफल पाउडर का इस्तेमाल किया जा सकता है। 

जायफल में एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते है जो दांत दर्द से राहत दिलाने में मदद करते हैं। इसके लिए आप जायफल पाउडर को दांतों पर लगाये और कुछ समय बाद साफ़ पानी से कुल्ला कर ले, आपका दांतों का दर्द ठीक हो जाएगा।
 

(4) तेज दिमाग के लिए

 

उम्र बढ़ने के साथ-साथ दिमाग कमजोर होना आम बात है। लेकिन कम उम्र में दिमाग कमजोर हो जाए तो चिंता का विषय बन जाता है। दिमाग कमजोर होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे मानसिक तनाव, नींद पूरी न होना, पोषक तत्वों की कमी इत्यादि। 

अगर आपका दिमाग कमजोर है और जल्दी भूल जाते हैं तो आपको जायफल का सेवन करना चाहिए। जायफल में मैरिस्टिकिन और मैक्लिग्नान जैसे तत्त्व मौजूद होते हैं जो तेज दिमाग करने में मदद करते हैं। इसके लिए रोजाना सोने से पहले एक गिलास गर्म पानी में एक चुटकी जायफल पाउडर मिलाकर पीने से दिमाग को तेज होने में मदद मिलता है।
 

(5) जोड़ों का दर्द दूर करने में

 

आजकल जोड़ो के दर्द से सिर बुजुर्ग ही नहीं बल्कि युवा पीढी भी जूझ रहा है। जोड़ो का दर्द होने से मरीज का चलना-फिरना और उठना-बैठना मुश्किल हो जाता है। जोड़ों में दर्द के राहत पाने के लिए लोग तरह की दवाइयों और गोलियों का सेवन करते है लेकिन जब तक इन दवाइयों का असर रहता है तब तक जोड़ो का दर्द ठीक रहता है फिर असर ख़त्म होने पर दुबारा दर्द होने लगता है।
 

जोड़ो के दर्द से राहत पाने के लिए आप जायफल के तेल इस्तेमाल कर सकते हैं। नारियल या जैतून के तेल में थोड़ी सी मात्रा में जायफल के तेल मिलाकर जोड़ो की मालिश करने से जोड़ो के दर्द से राहत मिलती है।
 

जायफल के नुकसान - Side Effects of Nutmeg in Hindi

  • सामान्य मात्रा से अधिक जायफल का इस्तेमाल करने से आपको कई नुकसान उठाने पड़ सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कि अधिक मात्रा में जायफल का इस्तेमाल करने से कौन-कौन से नुकसान होते हैं।
     
  • जायफल की तासीर गर्म होती है, इसलिए गर्मियों के मौसम में इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से आपको नुकसान पहुच सकता है।
  • गर्भवती और स्त नपान कराने वाली महिलाओं को ज्यादा मात्रा में जायफल का सेवन नहीं करना चाहिए। या सेवन करने से डॉक्टर की सलाह जरुर लेनी चाहिए।
     
  • अधिक मात्रा में जायफल का सेवन करने से कुछ लोगो में प्या स, चक्क र आना, मतली, उल्टीि, छाती और पेट दर्द, मुंह का सूखना जैसी समस्याएं होने लगती हैं।
     
  • कई बार जायफल का अधिक सेवन करने से ऐसा प्रतीत होता है जैसे किसी नशीले पदार्थ के सेवन से होता है।

Post a Comment

Post a Comment (0)

Previous Post Next Post